यह बात सभी को गाँठ बाँध लेनी चाहिए कि भारत विभिन्न मतों, मान्यताओं, संस्कारों, परम्पराओं, भाषाओँ, संस्कृतियों का देश है | कोई इस्लामिक, इसाई, या बौद्ध देशों की तरह एकल संस्कृति व भाषा का देश नहीं है

मेरे एक मित्र श्री D.r. Godara जी ने इस पुस्तक के विषय में जानकारी दी और मुझसे अपनी राय व्यक्त करने का आग्रह किया | मैंने पुस्तक के कुछ अंश पढ़े, लेकिन पूरी नहीं पढ़ी | फिर भी मैं इतना तो समझ ही चुका था कि पुस्तक के लेखक गोकुलजी, बहुत ही सुलझे विचारों वाले, पढ़े-लिखे व्यक्ति हैं |

Path

आस्तिक होने के लिए कुछ नहीं करना केवल “न काहू से दोस्ती न काहू से बैर” वाला डायलॉग बोल देना होता है |

तथाकथित धार्मिक लोगों ने, तथाकथित झूठे समाज ने, तथाकथित झूठे परिवार ने यही समझाने की कोशिश की है कि सेक्‍स, काम, यौन, अपवित्र है, घृणित है

मोटिवेशन गुरु संदीप माहेश्वरी का एक विडिओ देखा मुझे बहुत ही पसंद आया | एक प्रश्न ‘क्यों ?” किसी व्यक्ति को कितना बदल देता है वह उस विडियो में देखने को मिला | समाज प्रश्नों से घबराता है और उससे अधिक घबराते है धर्मों के…

Bodhidharma was a Buddhist monk who lived during the 5th or 6th century CE. He is traditionally credited as the transmitter of Ch’an (Sanskrit: Dhyāna, Korean: Seon, Japanese: Zen) to China, and regarded as its first Chinese patriarch. According to Chinese legend, he also began…

“When you rape, beat, maim, mutilate, burn, bury, and terrorize women, you destroy the essential life energy on the planet.” ― Eve Ensler, The Vagina Monologues “No wonder male religious leaders so often say that humans were born in sin—because we were born to female creatures. Only…

सावन के त्यौहार हों और उनमें वर्षा न हो यह कैसे संभव हो सकता है ? कल रात को शुरू हुई वर्षा दिन भर रुक रुक कर होती रही और साथ दे रही थी तेज हवा जो पेड़ पौधों के साथ अठखेलियाँ कर रही थी…