हुंदई वाले आये, संस्कृत सीखी और नुस्खा चुरा कर ले गए…

सालों से लोग मजाक बनाते आए हैं कि देखना एक दिन ऐसा आएगा कि पानी से कार चलानी पड़ेगी । किसे पता था कि यह मजाक एक दिन हकीकत का रूप ले लेगा। कोरियाई ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई ने इसे सच साबित कर दिया। कंपनी इस साल बाजार में हाइड्रोजन चालित वाहन पेश करेगी। कंपनी हाइड्रोजन फ्यूल सेल वाली अपनी कार टकसोन एसयूवी को इस साल अमेरिका में पेश कर देगी। यह अपनी तरह का पहला वाहन है जिसे अमेरिका में बेचा जाएगा। -समाचार

“कल फिर हमारे ज्ञानीजन खुलासा करेंगे कि पानी से चलने वाले वाहन के इंजन बनाने की विधि हमारे शास्त्रों में पहले से ही लिखी हुई थी | हुंदई वाले आये, संस्कृत सीखी और नुस्खा चुरा कर ले गए…

अरे शर्म करो बेशर्मों…!!! क्या सारी शिक्षा केवल विदेशियों की चाकरी करने के लिए ही ली है ? क्या केवल नौकरी करने, लड़की पटाने, बच्चे पैदा करने, अंग्रेजी बोलने, क्रिकेट खेलने और भ्रष्टाचारियों को टैक्स देने के लिए ही भारत में जन्म लिया है ?”

नया कुछ नहीं बना सकते तो कम से कम अपने पूर्वजों के आविष्कारों को ही आगे बढ़ा दो !!! पुष्पक विमान बनाने के विधि तो लिख दिया था रावण ने, उसे ही बना लोग !!!! मन्त्र शक्ति से वशीकरण, स्तम्भन, मारण जैसे कार्य करने और गारंटी के साथ सफलता का दावा करने वाले कम से कम आतंकवादियों और भ्रष्टाचारियों का स्तम्भन और मारण का प्रयोग करके देश को तो सुरक्षा प्रदान करें…!!!

READ  ‘सर्वधर्म समभाव मदरसा’

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of