Temple Challenge: छात्रा का खुलासा, स्कूल में ही खेला जाता था ऐसा एडल्ट गेम,

बकिंघम में स्थित प्रतिष्ठित स्टोव स्कूल की एक पूर्व छात्रा के खुलासे ने जहां स्कूल प्रशासन की नींद उड़ा दी, वहीं छात्र-छात्राओं के परिजनों को सोचने के लिए मजबूर कर दिया। खुलासे के बाद यूनाइटेड किंगडम का यह स्कूल विवादों में घिर गया है। पूर्व छात्रा का कहना है कि स्कूल में ही स्टूडेंट्स खुलेआम बिना किसी रोक-टोक के साथ एक दूसरे से सेक्स करते थे। 2006-08 की पास आउट लिव स्टीवन्स का कहना है कि छात्र सेक्स को लेकर अजीबोगरीब शर्तें लगाते थे और स्टूडेंट्स की इन हरकतों के बारे में स्कूल टीचर्स को पूरी जानकारी रहती थी लेकिन वे चाहकर भी कुछ नहीं कर पाते थे।एक अंग्रेजी वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक कई बार तो छात्र स्कूल के मैदान, क्लास रूम, क्रिकेट पैवेलियन या बोर्डिंग हाउस में ही सेक्स कर लिया करते थे। साथ ही छात्रा ने बताया कि 750 एकड़ में फैली स्कूल की 40 इमारतों में सेक्स को लेकर “टेम्पल चैलेंज” नाम का एक गेम खेला जाता था।

स्वच्छंदता इतनी भी न हो कि स्कूलों की मर्यादा ही समाप्त हो जाए | लन्दन अपनी उन्मुक्तता के लिय विश्वप्रसिद्ध रहा है और यही कारण रहा है कि हमारे अधिकाँश मर्यादित और आदर्श नेताओं को लन्दन आकर्षित करता रहा है | वे भारत को भी लन्दन बनाने का सपना संजोते रहे और आज बहुत हद तक ऐसा हो चुका है और उनका सपना लगभग पूरा होने ही जा रहा है |

क्योंकि कान्वेंट स्कूल हर राजनेता और धर्मगुरु का सपना बन चुका है |आज वाइफ स्वैपिंग से लेकर लिव-इन-रिलेशनशिप भारत में अपना प्रभुत्व जमा ही चुकी है | कपड़ों से स्त्रियों को बैराग हो ही चुका है और जल्दी ही सेक्स एजुकेशन में थ्योरी के साथ साथ प्रैक्टिकल भी शामिल हो जाएगा | सेक्स के पेपर पर मार्क्स भी थ्योरी के साथ साथ प्रैक्टिकल स्टैमिना के ऊपर ही निर्भर करेगा |

READ  इस्लाम व हिंदुत्व के ठेकेदार और पुनर्जन्म

लेकिन हमारे धर्माचार्यों को कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि हमें भारत को आधुनिक बनाना है | हमारी संस्कृति और सभ्यता अब बासी हो चुकी है | अब यह संस्कृति के दंगे करवाने और चुनाव जिताने तक ही सीमित रह गया | अब हमारी संस्कृति का उपयोग केवल मंदिर मस्जिद तक ही सीमित रह गया है और वह चढ़ावे के लिए न कि भक्ति के लिए |

लेख से सम्बंधित अपने विचार अवश्य रखें

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of