तो कैसे कोई कह सकता है कि कुछ बदल नहीं सकता ?

सुविचार: “जिसे हम बदल नहीं सकते, उसे स्वीकार लेना ही बुद्धिमानी है !”कुविचार: ऐसी कौन सी चीज है जो बदल नहीं सकती ? सत्…
Posted by विशुद्ध चैतन्य on Wednesday, April 30, 2014

लेख से सम्बंधित अपने विचार अवश्य रखें

READ  वह स्वर्णयुग अवश्य लौटेगा जब हम सब पुष्पक विमान का आनंद ले सकेंगे

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of