दूसरे आपके विषय में क्या कहते हैं वह महत्वपूर्ण नहीं है, महत्वपूर्ण है आप स्वयं के विषय में कितना जानते हैं | ~विशुद्ध चैतन्य

लेख से सम्बंधित अपने विचार अवश्य रखें

READ  धर्म से ही विमुख हो गया समाज

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of