गूगल क्रोम है अलादीन का चिराग

एक थे बुद्धूराम,

एक दिन उन्हें अपने गांव से बाजार जाना था. तो वे अपने घोड़े पर सवार हुए, बेटे को साथ बिठाया, अनाज की बोरी लादी, और चल पड़े शहर की ओर. कुछ ही दूर गए थे कि एक गांव वाले ने टोक दिया- अरे भाई! कुछ तो रहम करो बेचारे घोड़े पर. खुद भी सवार हो, बेटे को भी बिठा रखा है और ऊपर से, बोरी भी लाद रखी है.बुद्धूराम झेंप गए. घोड़े की पीठ पर बैठे-बैठे उन्होंने चुपचाप, बेटे को घोड़े की पीठ से उठाकर अपनी गोद में ले लिया.

कुछ ही दूर गए थे कि एक दूसरे गांव वाले ने देखा कि बुद्धूराम घोड़े पर, बेटे को गोद में उठाए, चले जा रहे हैं. उसने पूछा- बुद्धूराम ये क्या? बुद्धूराम ने समझाया कि घोड़े पर ज्यादा बोझ नहीं पड़े इसलिए उन्होंने बच्चे को गोद में ले लिया है. गांववाले ने हंस कर कहा- बुद्धूराम, लेकिन बोरी तो बच्चे से भी ज्यादा भारी है. उसे भी तो तुमने घोड़े पर लाद रखा है. बुद्धूराम सोच में पड़ गए.

आखिरकार, उन्होंने बोरी को अपने सिर पर डाला, बच्चे को गोद में उठाया और घोड़े पर सवार होकर आगे बढ़ गए.

आप कहेंगें तभी तो उसका नाम बुद्धूराम है!!

लेकिन यकीन मानिए, हम में से भी बहुत से लोग, हर रोज, ऐसे ही फालतू की मेहनत करते रहते हैं. हम भूल जाते हैं कि हमारे फोन और कंम्पयूटर में, ‘गूगल सर्च’ नाम का एक ऐसा जिन्न बैठा हुआ है जो एक इशारे पर, पलक झपकते ही, कुछ भी हाजिर कर सकता है.

आपका फोन है अलादीन का चिराग 

इंटरनेट से लैस आपका मोबाइल फोन, अलादीन के किसी चिराग से कम नहीं है. लेकिन फोन के इस जिन्न की छिपी हुई कई ताकतों को हम नहीं पहचान पाते. नतीजा ये, कि हम बिना बात ढेरों App डाउनलोड करके अपने फोन को सुस्त बना लेते हैं या फिर, जरा से काम के लिए तमाम वेबसाइट्स पर भटकते रहते हैं. जो काम पल भर में हो सकता है उसके लिए हम देर तक माथापच्ची करते रहते हैं. बस अपने फोन के होम पेज पर, ‘गूगल सर्च’ का आइकन या विजेट जरूर रखें. इसके बाद गूगल सर्च नाम के इस ‘जिन्न’ का कमाल देखते जाएं.

आइए, गूगल सर्च के इस जिन्न की कुछ छिपी हुई ताकतों के बारे में आपको बताते हैं.

Google को सर्च मत करो

क्या आप अपने कंप्यूटर में Chrome Browser इस्तेमाल करते हैं? जिनको पता है उन्हें ये बात बचकानी लग सकती है. लेकिन बहुत सारे लोग अभी भी कुछ सर्च करने के लिए पहले ब्राउसर में जाकर Google.com टाइप करते हैं, गूगल का पेज खुलने के बाद उसमें जो खोजना हो, वो लिखते हैं, और फिर सर्च करते हैं. फालतू ही मेहनत है ये!

Chrome Browser खुद में ही गूगल सर्च है. यानि गूगल की साइट खोलने के बजाय आप सीधे जो सर्च करना हो वो यहां लिखें और Enter का बटन दबाएं. Chrome के भीतर ही ‘गूगल सर्च’ छिपा हुआ है. यानि अगर आप Chrome मे aajtak.com टाइप करेंगे तो ये ‘आजतक’ की वेबसाइट खोल देगा और अगर आप सिर्फ aajtak टाइप करके सर्च करेंगे तो ये aajtak को गूगल पर सर्च करके खोज निकालेगा.

READ  कभी आपने जानने का प्रयास किया है कि आपके साल भर का मेडिकल का बिल कितना होता है ?

Spelling Mistake चलेगा

गूगल सर्च के लिए लिखते हुए कैपिटल और स्माल लेटर के बारे में सोचने की कोई जरूरत नहीं है. आप IIT Kanpur लिख कर सर्च करें या iit kanpur – बात एक ही है. इसी तरह, छोटे मोटी spelling की गड़बड़ को गूगल, खुद सही कर लेता है. Spelling ठीक-ठीक याद नहीं तो ज्यादा परेशान मत हों.

क्यों चाहिए कैल्कुलेटर

गूगल सर्च के भीतर कितना पावरफुल कैल्कुलेटर छिपा है, आप सोच भी नहीं सकते. जिनका मैथ्स में हाथ तंग हो उन्हें अगर कैलकुलेटर देकर भी पूछा जाए कि 34962 का 23.5 परसेंट कितना होगा, तो शायद मुश्किल हो जाएगी. लेकिन गूगल सर्च में बस लिख कर देखें 23.5 percent of 34962 . गूगल सर्च ही सबसे बड़ा कैल्कुलेटर है. जो जोड़ना, घटाना, कैलकुलेट करना हो, सीधे यहीं लिखें (जैसे 785+456+1386+1654) और और जवाब सामने होगा. ये सोचने तक की जरूरत नहीं कि कौन सी चीज केल्कुलेट करने के लिए क्या बटन दबाना है. बस, सीधे अपना सवाल गूगल सर्च में लिखें जैसे- square root of 45689. ट्राई करके देखें- कैल्कुलेटर हमेशा के भूल जाएंगे.

डॉलर बताओ, रुपये पाओ

डॉलर का रेट तो हर रोज बदलता रहता है – कहां तक याद रखा जाए ! मीटर को फीट में बदलना हो, इन्च को सेंटीमीटर में या फिर डॉलर को रूपए में – किसी भी conversion के लिए अब कोई App डाउनलोड करने की जरूरत नहीं है. बस तरीका याद रखें – ( unit 1) in ( unit 2). यानि गूगल सर्च में सीधे लिखें – 175 meter in feet. या फिर लिखें 265 dollar in rupee, या फिर 127 centimeter in inch. है ना आसान?

स्वेटर रखें या नहीं

छुट्टियों में सिंगापुर जा रहे हैं और उलझन में हैं कि गर्म कपड़ों की जरूरत पड़ेगी या नहीं? गूगल सर्च में टाइप करें – weather in singapore – सिर्फ आज का नहीं, सिंगापुर में अगले सात दिनों के मौसम का हाल आपके सामने होगा. अब मौसम की जानकारी देने वाली कोई साइट खोजनी की जरूरत नहीं. बस weather in (शहर का नाम) लिखें और सबकुछ सामने होगा. जैसे weather in ahmedabad, weather in london, weather in mumbai.

भागो नहीं, आराम से!!

सर्दियों में फ्लाइट्स का लेट होना आम बात है. लेकिन बार बार एयरलाइंस के हेल्पलाइन पर फोन करने की जरूरत नहीं है. बस अपने फोन के गूगल सर्च में फ्लाइट का नाम और नंबर ( जैसे spicejet 131, air india 19, british airways 142 ) लिख कर सर्च करें. आपको फ्लाइट की पोजिशन, लेट होने की जानकारी, Take off और Landing Time, Terminal की जानकारी तो मिलेगी ही, आपको ये भी पता चल जाएगा कि इस वक्त वो हवाईजहाज कहां है.

लंदन में रात अभी बाकी है

READ  इस ब्रहमांड में कई ऐसे रहस्य छुपे हुए हैं जिन्हें खोजना जानना अभी बाकी है

विदेश में रहने वाले अपने रिश्तेदार को फोन करने से पहले अब ये सोचने की जरूरत नहीं कि पता नहीं, वहां इस समय क्या टाइम हो रहा होगा. न ही अपने फोन में, दुनिया के तमाम शहरों का टाइम सेट करने की जरूरत है. बस गूगल सर्च में पूछिए – time in london, time in dubai, time in tokyo. आपको टाइम के साथ साथ उस जगह का टाइम जोन भी पता चल जाएगा.

First डे, First शो

अगर आप फिल्मों के शौकिन हैं तो छुट्टी के दिन सबसे पहले ये जानना पसंद करेंगे कि घर के आस पास के थियेटर्स में आपकी पसंदीदा फिल्म के शो टाइमिंग क्या हैं. गूगल सर्च में बस अपनी फिल्म का नाम डाल कर सर्च करें. पहला रिजल्ट जो दिखेगा वो होगा आपके आस-पास, किस-किस थियेटर में उस फिल्म का शो टाइम क्या हैं. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आपका फोन या कंपयूटर wi-fi से कन्क्टेड हो या फिर आपने अपने फोन में Location Services को ON कर रखा हो. किसी और जगह पर फिल्म का शो पता करना हो तो फिल्म के नाम के साथ उस इलाके का नाम और शहर भी लिखें – जैसे jackpot noida sector 18. अगर आप सिर्फ showtimes लिख कर सर्च करेंगे तो आस पास के सिनेमाघरों में कौन कौन सी फिल्म चल रही है उसका पूरा ब्योरा आपके सामने होगा.

C – A -T कैट – कैट माने बिल्ली

फोन में कोई Dictionary डाउनलोड करने की जरूरत नहीं है. जिस शब्द का मतलब जानना हो बस गूगल सर्च में टाइप करें – define (अपना शब्द). जैसे, define hormone, define missile, define adjective. न सिर्फ आपको शब्द का मतलब पता चलेगा, बल्कि इसकी परिभाषा, इस्तेमाल का तरीका, इस शब्द का जन्म कैसे हुआ और यहां तक कि उसका सही उच्चारण भी दिखाई और सुनाई देगा. सुनने के लिए शब्द के नीचे जो स्पीकर का निशान बन कर आता है उसे क्लिक करें.

और पंजाबी में कहते हैं…

क्या आप किसी दूसरे भाषा बोलने वाले को उसकी भाषा में कुछ लिखकर इंप्रेस करना चाहते हैं? गूगल सर्च में लिखिए- translate ( अपनी भाषा के शब्द) to ( दूसरी भाषा का नाम) . जैसे translate i love you to tamil . या लिखिए, translate thank you so much to french. दूसरी भाषा में जो कुछ लिख कर सामने दिखा, अगर आप उसे इस्तेमाल करना चाहते हैं तो copy करके, जहां चाहें वहां paste कर दें.

मोगैम्बो खुश हुआ

मोगैम्बो तभी खुश होगा जब उसे बिल्कुल वही मिलेगा जो चाहिए. अगर आप बिल्कुल वही शब्द खोजना चाहते हैं जो आपने लिखा है – और इसके अलावा कुछ और नहीं- तो सर्च के लिए Enter का बटन दबाने से पहले, अपने लिखे शब्दों को inverted coma यानि “……. ” के भीतर बंद कर दें. इससे मिलते जुलते शब्द, सर्च रिजल्ट से हट जाएंगे और गूगल सिर्फ आपके लिखे शब्दों को खोज कर आपके सामने पेश करेगा.

जैसे अगर आप गूगल में arvind kejriwal IIT लिख कर सर्च करेंगें तो आपके सामने ‘अरविंद केजरीवाल’ और ‘IIT’ इन दोनों शब्दों से जुडें लाखों रिजल्ट आ जाएंगे. लेकिन अगर आप इन्हीं तीन शब्दों को inverted coma के भीतर बंद करके “arvind kejriwal iit” खोजेंगे तो आपको केवल वही रिजल्ट दिखेंगे जिनका संबंध अरविंद केजरीवाल और IIT दोनों से होगा. जैसे अरविंद केजरीवाल किस IIT से पढ़े, उनकी कौन सी ब्रांच थी, कब पास हुए, क्या रैंक थी और अरविंद केजरीवाल के IIT में दिए गए भाषण जैसी चीजें. ये ट्रिक खास तौर पर किसी गाने के बोल, या फिर साहित्य की कोई मशहूर लाइन खोजने के लिए बहुत कारगर है.

READ  सेक्स के 10 पॉपुलर मिथ

यही तो थी वो जगह

आपको याद है कि पिछले हफ्ते आपने Rediff.com पर एक article पढ़ा था जिसमें नरेन्द्र मोदी की तुलना सचिन तेंदुलकर से की गयी थी. आपको वेबसाइट तो याद है, लेकिन article का नाम नहीं. अब अगर आप किसी दोस्त को वही article खोज कर भेजना चाहते हैं, तो क्यों न सिर्फ rediff.com पर ही उसे खोजा जाए. सर्च के लिए लिखिए narendra modi sachin tendulkar :rediff.com.

यानि, सर्च के लिए लिखे गये शब्दों के बाद, यदि आप एक स्पेस देकर (:) के साथ वेबसाइट का नाम लिख देंगे – जैसे tech it easy :aajtak.com तो गूगल सबसे पहले उसी वेबसाइट के भीतर उन शब्दों को खोजकर आपके सामने पेश करेगा. इतना ही नहीं, यदि आप चाहें तो गूगल, सिर्फ किसी खास तरह की वेबसाइट्स पर ही सर्च करेगा. जैसे, अगर आप telecom के बारे में सिर्फ भारत सरकार की वेबसाइट्स में कुछ खोजना चाहते हैं, तो सर्च के लिए लिखिए telecom :gov.in अगर आप civil engineering के बारे में सिर्फ education से जुड़ी वेबसाइट्स देखना चाहते हैं तो सर्च कीजिए civil engineering :edu.

हट जाओ मेरी नजरों के सामने से

अगर आप सर्च में से किसी खास चीज को हटाना चाहते हैं तो बस एक ‘डैश’ यानि dash (-) लगाना है. आपने सर्च के लिए जो लिखा है, उसके बाद एक स्पेस दें, और फिर (-) लगाकर आप जो भी शब्द लिख देंगें वो सर्च रिजल्ट से गायब हो जाएगा. जैसे आप Scorpio राशि (Sunshine) के बारे में जानना चाहते हैं मगर Scorpio गाड़ी के हजारों रिजल्ट आपको तंग कर रहें हैं तो Socrpio -SUV लिख कर सर्च करें. गाड़ी से संबंधित ज्यातातर रिजल्ट गायब हो जाएंगें. लेकिन ये इमेज सर्च, यानि फोटो खोजने में काम नहीं करता.

इस (-) का इस्तेमाल करके आप किसी खास वेबसाइट के रिजल्ट को भी फिल्टर करके हटा सकते हैं. जैसे अगर आप SachinTendulkar -Wikipedia लिखकर खोजेंगे तो रिजल्ट में से Wikipedia के नतीजे हट जाएंगे. इसी तरह अगर आप songs download -credit card लिख कर खोजेंगे तो गूगल आपको उन्हीं वेबसाइट्स के बारे में बताएगा जो credit card नहीं मांगते.

इतने राज जान लेने के बाद आपका जिन्न अब आपसे सिर्फ एक ही बात कहेगा- ‘जो हु्क्म मेरे आका’!

और भी… http://aajtak.intoday.in/story/tech-it-easy-if-there-is-google-search-in-your-phone-you-have-everything-1-749650.html

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of