ज़िन्दगी मौत न बन जाए…

ज़िन्दगी मौत ना बन जाए, संभालो यारो..
खो रहा चैन-ओ-अमन..
मुश्किलो मे है वतन..
सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो

ज़िन्दगी मौत ना बन जाए, संभालो यारो..
खो रहा चैन-ओ-अमन..
मुश्किलो मे है वतन..
सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो यारो यारों

ज़िन्दगी मौत ना बन जाए, संभालो यारो
एक तरफ प्यार है चाहत है वफादारी है
एक तरफ देश मे, देश मे
एक तरफ देश मे धोका है गद्दारी है
बस्तिया सहमी हुई सहमा चमन सारा है
ग़म मे क्यू डूबा हुआ आज सब नज़ारा है
आग पानी की जगा अब जो बरसाएंगे
लहलाते हुए सब खेत झुलस जायेंगे जायेंगे जायेंगे
खो रहा चैन-ओ-अमन..
मुश्किलो मे है वतन..

सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो
ज़िन्दगी मौत ना बन जाए, संभालो यारो..
खो रहा चैन-ओ-अमन..
मुश्किलो मे है वतन..
सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो

ज़िन्दगी मौत न बन जाए, संभालो यारो..
चांद सिक्को के लिए तुम ना करो काम बुरा

ना करो काम बुरा, ना करो काम बुरा
ना करो काम बुरा..
हर बुराई का सदा होता है अंजाम बुरा
हर बुराई का होता है बस अंजाम बुरा अंजाम बुरा
अंजाम बुरा अंजाम बुरा..
जुर्म वालो की कहा उम्र बड़ी है यारो
इनकी राहो मे सदा मौत कड़ी है यारो
ज़ुल्म करने से सदा ज़ुल्म ही हाज़िल होगा
जो ना सच बात कहे वो कोई बुजदिल होगा
सरफरोशो ने लहू देके जिससे सींचा है
ऐसे गुलशन को उजड़ने से बचा लो यारो

सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो यारो यारो
ज़िन्दगी मौत ना बन जाए, संभालो यारो..
खो रहा चैन-ओ-अमन..
मुश्किलो मे है वतन..
सरफरोशी की शमा दिल मे जला लो यारो
ज़िन्दगी मौत न बन जाए, संभालो यारो….

READ 

ज़िन्दगी मौत न बन जाए…

लेख से सम्बन्धित आपके विचार

avatar
  Subscribe  
Notify of