हमारा ज्ञान रटा हुआ है, न कि जिया हुआ। हमने अनुभव नहीं किया बस हमने पढ़ा या सुना और हमें ठीक लगा तो हमने उसे याद कर लिया और हमें लगा कि हमें ज्ञान हो गया लेकिन वास्तव में हमें ज्ञान नहीं हुआ बल्कि ज्ञान प्राप्त करने के मार्ग की जानकारी भर हो गई।

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/gmQhB

193 total views, no views today

राजा का ऐसा हृदयस्पर्शी, दिल को पिघला देने वाला भाषण सुनकर प्रजा भी फूट-फूटकर रोने लगी और राजा को पचास दिन दे दिए

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/tvpFN

2,398 total views, 2 views today

कई हज़ार साल पुरानी बात है एक महान देश के महान सम्राट का महान दरबार लगा हुआ था | पूरे देश के महान लोग वहाँ मंत्रणा कर रहे थे | विषय बहुत ही गंभीर था, एक मौलवी ने एक हिन्दू लड़की का बलात्कार करके उसका…

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/BMTeQ

836 total views, 2 views today

…ब्राह्मण कहता है कि जन्मों-जन्मों तक अब कोई जरूरत ही नहीं है; यह खर्च हो ही नहीं सकती। जो अकबर दे गया है, वह ऐसी चीज दे गया है, जो खर्च हो नहीं सकती।

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/UxIVg

1,143 total views, 4 views today

मोज़िज़ एक जंगल से गुजरते हैं और एक आदमी को प्रार्थना करते देखते हैं। एक गड़रिया गरीब आदमी, फटे चीथड़े पहने हुए भगवान से प्रार्थना कर रहा है। महीनों से नहाया नहीं होगा, ऐसी दुर्गंध आ रही है। अब भेड़ों के पास रहना हो तो…

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/9vTwE

651 total views, 6 views today

एक गुरु ने अपने शिष्य को तुलाधर वैश्य के पास ज्ञान लेने भेजा। शिष्य ने कहां, ‘आप ब्राह्मण हैं। आप महापण्डित हैं और एक बनिये के पास मुझे भेज रहे हैं ज्ञान लेने?’ तो उसके गुरु ने कहां, ‘ज्ञान न तो ब्राह्मण को देखता है,…

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/GgceL

1,417 total views, no views today

एक गुरु ने अपने शिष्य को तुलाधर वैश्य के पास ज्ञान लेने भेजा। शिष्य ने कहां, ‘आप ब्राह्मण हैं। आप महापण्डित हैं और एक बनिये के पास मुझे भेज रहे हैं ज्ञान लेने?’ तो उसके गुरु ने कहां, ‘ज्ञान न तो ब्राह्मण को देखता है,…

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/oGsxS

2,085 total views, no views today

एकनाथ के जीवन में ऐसा उल्लेख है। एक युवक एकनाथ के पास आता था। जब भी आता था तो वह बड़ी ऊंची ज्ञान की बातें करता था। एकनाथ को दिखाई पड़ता था, वे ज्ञान की बातें सिर्फ अज्ञान को छिपाने के लिए हैं। एक दिन…

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/RQWeZ

690 total views, 4 views today