वे सभी पलायनवादी ही हैं जो अपनी पत्नी-बच्चों को छोड़कर विदेशों में पड़े हुए हैं चंद रुपयों के लिए |

87 total views, 87 views today

क्या आप किसी ऐसे धर्म या सम्प्रदाय का सहयोग करते हैं जो अपने सम्प्रदाय के लोगों को अत्याचार, शोषण व भुखमरी से बचाता हो ?

602 total views, no views today

चूँकि अधिकाँश मानव प्रजाति सेक्स कुंठा से ग्रस्त है, और सभी को सही समय पर इसका अनुभव नहीं मिल पाता या योग्य साथी नहीं मिल पाता, इसलिए सेक्स विश्व का सबसे प्राचीन व शायद प्रथम व्यवसाय बना

506 total views, 7 views today

अक्सर हम सुनते हैं कि धर्म खतरे में हैं | गली मोहल्लों से लेकर विश्वस्तर पर धर्म रक्षक बने लुच्चे लफंगों की सेनाएं तैनात हो रहीं हैं | हर किताबी रट्टामार धार्मिक इस बात पर बहुत ही गंभीरता से विश्वास करता है कि धर्म खतरे…

1,612 total views, 14 views today

अक्सर देखता हूँ कि आध्यात्म और धर्म के नाम पर समाज दोहरी मानसिकता रखता है | जब भी आध्यात्म या धार्मिकता की बात आती है, तब समाज का व्यव्हार बिलकुल अलग होता है और जब विज्ञान व्यवहार की बात आती है तो बिलकुल अलग |…

1,768 total views, no views today

एक बहुत ही बड़ा भ्रम पाल लिया है पढ़े-लिखों ने कि भौतिक सुख ही वास्तविक सुख है और बाकी सभी कुछ भ्रम है मिथ्या है | इनको लगता है कि इंसानों ने जो आविष्कार किये वे ही जीवन दायिनी हैं, बाकि सभी कुछ व्यर्थ |…

567 total views, no views today

मेरे एक मित्र श्री D.r. Godara जी ने इस पुस्तक के विषय में जानकारी दी और मुझसे अपनी राय व्यक्त करने का आग्रह किया | मैंने पुस्तक के कुछ अंश पढ़े, लेकिन पूरी नहीं पढ़ी | फिर भी मैं इतना तो समझ ही चुका था कि पुस्तक के लेखक गोकुलजी, बहुत ही सुलझे विचारों वाले, पढ़े-लिखे व्यक्ति हैं |

328 total views, 10 views today

“सलाम,  “जनाब एक सवाल था , क्या गरीबी पूंजीवाद का एक महत्वपूण अंग है ??? मैंने कार्ल मार्क्स के कुछ विचार देखे है “YouTube” पर , जिसमे एक बात पे ज़ोर दिया गया है “गरीबी नसीब नहीं बल्कि एक साज़िश है” ! समय मिले तो…

2,054 total views, 33 views today

क्या तुम मूर्ख हो जो विश्व के देशों में गरीबी-भुखमरी होते हुए भी अरबों रुपयों का अन्न,, दूध,, घी,, तेल बिना खाए ही नदी नालों में बहा देते हो???

306 total views, 7 views today

Swami Ji – I saw one post on face book – पेरियार नायकर के ईश्वर से सवाल ————————————————- 1) क्या तुम कायर हो जो हमेशा छिपे रहते हो,,, कभी किसी के सामने नहीं आते…??? 2) क्या तुम खुशामद परस्त हो जो लोगों से दिन रात…

595 total views, no views today