“गरीबी नसीब नहीं बल्कि एक साज़िश है”

“सलाम,  “जनाब एक सवाल था , क्या गरीबी पूंजीवाद का एक महत्वपूण अंग है ??? मैंने कार्ल मार्क्स के कुछ विचार देखे है “YouTube” पर , जिसमे एक बात पे ज़ोर दिया गया है “गरीबी नसीब नहीं बल्कि एक साज़िश… Read more“गरीबी नसीब नहीं बल्कि एक साज़िश है”

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/r8iZX

2,808 total views, 2 views today

नास्तिकों के देवता पेरियार के अनुत्तरित प्रश्न और अनपढ़ विशुद्ध चैतन्य के उत्तर

क्या तुम मूर्ख हो जो विश्व के देशों में गरीबी-भुखमरी होते हुए भी अरबों रुपयों का अन्न,, दूध,, घी,, तेल बिना खाए ही नदी नालों में बहा देते हो???

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/kf3w9

461 total views, 1 views today

नास्तिकों के देवता पेरियार के अनुत्तरित प्रश्न और अनपढ़ विशुद्ध चैतन्य के उत्तर

Swami Ji – I saw one post on face book – पेरियार नायकर के ईश्वर से सवाल ————————————————- 1) क्या तुम कायर हो जो हमेशा छिपे रहते हो,,, कभी किसी के सामने नहीं आते…??? 2) क्या तुम खुशामद परस्त हो… Read moreनास्तिकों के देवता पेरियार के अनुत्तरित प्रश्न और अनपढ़ विशुद्ध चैतन्य के उत्तर

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/4t40N

885 total views, no views today

असली मूल निवासी कौन है ?

जो मूल निवासी नहीं होते, वे अपने खेत बेच देते हैं नौकरी के लालच में, गाड़ी, बंगला कोठी के लालच में और गुलाम बन जाते हैं जीवन भर के लिए उनके जो मूल निवासी नहीं हैं |

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/Zjnpe

185 total views, no views today

…सबका उद्देश्य है तो क्या हर कोई अपने आप उस रास्ते पर आ जाता है ?

“चैतन्य जी, ये हमें कैसे पता चलेगा कि इस दुनिया में हम किस उद्देश्य के लिए आये हैं, जैसे की मै अपनी ही बात करता हूँ, मेरी पढाई मेरे ही काम नही आ रही..कोचिंग पढ़ाने के बहुत प्रयास किये..असफल रहा..और… Read more…सबका उद्देश्य है तो क्या हर कोई अपने आप उस रास्ते पर आ जाता है ?

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/qjxS2

752 total views, 2 views today

क्या बातें करें अध्यात्म की हम ?

 जीवन के अंतिम पड़ाव में अंतिम घड़ी की प्रतीक्षा में बैठे लोग ही अध्यात्म में रूचि लेते हैं क्योंकि अब कुछ और करने लायक रह ही नहीं गये | नाती-पोते हो गये, गंभीरता दिखानी ज़रूरी हो गयी नहीं तो समाज… Read moreक्या बातें करें अध्यात्म की हम ?

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/Y2L1f

913 total views, 1 views today

सनातन धर्म क्या है ?

उलझा दिया समाज को सम्प्रदायों और पंथों को धर्म का नाम देकर | आज युवाओं के मन में यह प्रश्न रह रह कर उठता है कि हिन्दू धर्म और सनातन धर्म में क्या अंतर है ? कई बार मुझसे पूछा… Read moreसनातन धर्म क्या है ?

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/aPbS5

2,050 total views, no views today

धरती पर खतरा बढ़ रहा है, कहीं और बसेरा तलाशें : स्टीफन हॉकिन्स

जब से अंग्रेजी सीख ली, किसान ही भूखे मरने लगे | लोग खेत छोड़कर नौकरी करने लगे | पूरे विषय को वस्त्र उपलब्ध करवाने वाले भारतीय खुद चीथड़ों में घुमने लगे… क्यों ? इतनी सारी डिग्रियाँ, इतनी महँगी-महँगी पढ़ाई का लाभ क्या हुआ ? क्यों हम भारतीय अपने ही देश की भूमि और पानी बचा पाने में असफल हो गये ?

The short URL of this article is: https://www.vishuddhablog.com/tNkic

1,387 total views, 1 views today